Delhi’s Highest Temperature: दिल्ली में 49.9°C, राजस्थान में 50°C

मंगलवार, 28 मई को दिल्ली ने अपने अब तक के सबसे अधिक तापमान को दर्ज किया, जब भारत की राजधानी Delhi’s Highest Temperature 49.9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। मुंगेशपुर, नजफगढ़ और नरेला जैसे क्षेत्रों ने क्रमशः 49.9 डिग्री सेल्सियस, 49.8 डिग्री सेल्सियस और 49.9 डिग्री सेल्सियस के तापमान दर्ज किए, जो गंभीर लू की स्थिति का सामना कर रहे हैं।

image 21

पिटमपुरा और पूसा में अधिकतम तापमान 48.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि जफरपुर में 48.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अन्य क्षेत्रों जैसे सफदरजंग, पालम, सीएचओ, रिज और अयानगर में भी अधिकतम तापमान 45 से 48 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया।

Delhi’s Highest Temperature

दिल्ली में पिछले 100 वर्षों में सबसे अधिक तापमान 49.2 डिग्री सेल्सियस था, जो 15-16 मई 2022 को दर्ज किया गया था। वर्तमान तापमान वृद्धि इस रिकॉर्ड को पार कर गई है, जो वर्तमान लू की गंभीरता को दर्शाता है। इसके जवाब में, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और गुजरात सहित कई क्षेत्रों के लिए ‘रेड’ अलर्ट जारी किया गया है, जो सभी आयु समूहों के लिए हीट-संबंधी बीमारियों और हीट स्ट्रोक के उच्च जोखिम का संकेत देता है।

यह लू केवल दिल्ली तक ही सीमित नहीं है। उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत भी अत्यधिक तापमान का सामना कर रहे हैं। उदाहरण के लिए, राजस्थान के फालोदी ने हाल ही में 50 डिग्री सेल्सियस का तापमान दर्ज किया, जो 1 जून 2019 के बाद से भारत में सबसे अधिक तापमान है। इस तीव्र लू ने पूरे देश में तापमान के रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं, यहां तक कि असम, हिमाचल प्रदेश और अरुणाचल प्रदेश जैसे पारंपरिक रूप से ठंडे क्षेत्रों को भी प्रभावित किया है।

Delhi’s Highest Temperature

यह अत्यधिक गर्मी भारत की बिजली अवसंरचना पर जबरदस्त दबाव डाल रही है। तापमान बढ़ने के साथ, बिजली की मांग 239.96 गीगावॉट तक बढ़ गई है, जो इस मौसम का सबसे अधिक है, क्योंकि लोग और व्यवसाय एयर कंडीशनर और कूलिंग सिस्टम पर भारी निर्भरता कर रहे हैं। यह मांग संभवतः सितंबर 2023 में दर्ज किए गए 243.27 गीगावॉट के सर्वकालिक उच्च स्तर को भी पार कर सकती है, जिससे बिजली ग्रिड पर और अधिक दबाव पड़ेगा।

संक्षेप में, दिल्ली और भारत के अन्य हिस्सों में चल रही अभूतपूर्व लू Delhi’s Highest Temperature Record बना रही है और गंभीर स्वास्थ्य जोखिम पैदा कर रही है, जबकि देश की बिजली आपूर्ति क्षमताओं को भी चुनौती दे रही है।

Leave a comment