$2200/Month कमाते हैं गांव के Blogger 🔥🔥 | Earned ₹15 Lakhs From Blogging

नमस्ते दोस्तों! आज के इस Blog में हम एक ऐसे शख्स की कहानी लेकर आए हैं जिसने अपने गांव की सीमाओं से बाहर निकलकर अपनी एक अलग पहचान बनाई है। जी हां, हम बात कर रहे हैं राजेंद्र राठौर की, जो मध्य प्रदेश के मुरेना जिले से ताल्लुक रखते हैं और वर्तमान में ब्लॉगिंग के जरिए हर महीने $2200 (लगभग ₹1,80,000) की कमाई कर रहे हैं। चलिए, जानते हैं उनकी पूरी कहानी।

Rajendra Rathor

Rajendra Rathor

मुरेना से Blogging तक का सफर

राजेंद्र राठौर मुरेना जिले के एक छोटे से गांव से आते हैं। मुरेना, जो चंबल की घाटियों के लिए प्रसिद्ध है, अक्सर फिल्मों और समाचारों में डाकुओं के कारण चर्चित रहता है। लेकिन राजेंद्र ने इन सभी रूढ़ियों को तोड़ते हुए ब्लॉगिंग में अपना करियर बनाया।

राजेंद्र ने बी.टेक की पढ़ाई शुरू की थी, लेकिन कुछ मजबूरियों के कारण उन्हें इसे बीच में ही छोड़ना पड़ा। इसके बाद उन्होंने अपने गांव में एक ऑनलाइन शॉप खोली, जहां वे सरकारी नौकरी के फॉर्म भरने और आधार कार्ड से पैसे निकालने का काम करते थे। इसी दौरान, लॉकडाउन के समय उन्होंने इंटरनेट पर सर्च करना शुरू किया कि कैसे ऑनलाइन पैसे कमाए जा सकते हैं।

Blogging की शुरुआत

राजेंद्र को कॉलेज के समय से ही HTML और CSS का नॉलेज था, लेकिन उन्हें नहीं पता था कि वेबसाइट से पैसे भी कमाए जा सकते हैं। 2020 के लॉकडाउन के दौरान, जब उनका ऑनलाइन शॉप का काम धीमा हो गया, तो उन्होंने गूगल पर सर्च किया और ब्लॉगिंग के बारे में पता चला।

उन्होंने पहला डोमेन नाम खरीदा और बिना होस्टिंग के ही ब्लॉगिंग शुरू कर दी। धीरे-धीरे उन्होंने SEO (Search Engine Optimization) के बारे में सीखा और अपनी वेबसाइट को गूगल पर रैंक करवाने लगे।

सफलता की राह

राजेंद्र की मेहनत रंग लाई और जल्द ही उनके ब्लॉग पर ट्रैफिक आने लगा। उन्होंने गूगल एडसेंस से अपनी वेबसाइट को मोनेटाइज किया और हर महीने अच्छी-खासी कमाई करने लगे। राजेंद्र का कहना है कि ब्लॉगिंग में सफलता के चांस उतने ही हैं जितने सरकारी नौकरी में, बस सही दिशा और मेहनत की जरूरत है।

उन्होंने ब्लॉगिंग से अब तक ₹15 लाख से ज्यादा की कमाई कर ली है और हाल ही में ग्वालियर में एक प्लॉट भी खरीदा है।

चुनौतियाँ और संघर्ष

राजेंद्र का सफर बिल्कुल आसान नहीं था। मुरेना जैसे बैकवर्ड एरिया से आकर ब्लॉगिंग में करियर बनाना अपने आप में एक बड़ी चुनौती थी। उनके पास शुरुआती दिनों में ना तो सही गाइडेंस थी और ना ही पर्याप्त संसाधन। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और लगातार सीखते रहे।

उन्होंने बताया कि ब्लॉगिंग में सफलता पाने के लिए धैर्य और निरंतरता बहुत जरूरी है। कई बार उनके ब्लॉग पर ट्रैफिक नहीं आता था, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और नई-नई रणनीतियाँ अपनाते रहे।

Blogging से मिली पहचान

राजेंद्र का कहना है कि ब्लॉगिंग ने उनकी जिंदगी बदल दी। उन्हें ना सिर्फ आर्थिक स्वतंत्रता मिली, बल्कि एक अलग पहचान भी मिली। लोग अब उन्हें उनके गांव में एक सफल ब्लॉगर के रूप में जानते हैं और उनसे प्रेरणा लेते हैं।

Blogging के टिप्स

राजेंद्र ने नए ब्लॉगरों के लिए कुछ टिप्स भी शेयर किए:

  1. धैर्य रखें: ब्लॉगिंग में तुरंत सफलता नहीं मिलती, इसे समय लगता है।
  2. कंटेंट क्वालिटी: अच्छा और उपयोगी कंटेंट लिखें जिससे पाठकों को फायदा हो।
  3. SEO सीखें: अपनी वेबसाइट को गूगल पर रैंक करवाने के लिए SEO की अच्छी समझ होनी चाहिए।
  4. निरंतरता बनाए रखें: नियमित रूप से ब्लॉग पोस्ट करते रहें और अपनी वेबसाइट को अपडेट करते रहें।
  5. नेटवर्किंग: दूसरे ब्लॉगरों से संपर्क में रहें और उनके साथ अनुभव साझा करें।

निष्कर्ष

राजेंद्र राठौर की कहानी हमें सिखाती है कि सफलता पाने के लिए मेहनत, धैर्य और सही दिशा में काम करना बहुत जरूरी है। उन्होंने मुरेना जैसे छोटे से गांव से आकर ब्लॉगिंग में जो सफलता पाई है, वह काबिले तारीफ है। उनकी कहानी उन सभी लोगों के लिए प्रेरणा है जो ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते हैं और अपने सपनों को पूरा करना चाहते हैं।

तो दोस्तों, अगर आप भी ब्लॉगिंग में करियर बनाना चाहते हैं, तो राजेंद्र राठौर की तरह मेहनत करें और अपने सपनों को साकार करें।

FAQs

1. Blogging कैसे शुरू करें?

  • एक अच्छा डोमेन नाम खरीदें, होस्टिंग लें और अपने ब्लॉग के लिए एक प्लेटफॉर्म चुनें (जैसे वर्डप्रेस)। अच्छा और उपयोगी कंटेंट लिखना शुरू करें।

2. Blogging से पैसे कैसे कमाए जा सकते हैं?

  • गूगल एडसेंस, एफिलिएट मार्केटिंग, स्पॉन्सर्ड पोस्ट और अपने प्रोडक्ट्स बेचकर ब्लॉगिंग से पैसे कमाए जा सकते हैं।

3. Blogging में सफलता पाने के लिए क्या जरूरी है?

  • धैर्य, निरंतरता, कंटेंट क्वालिटी और SEO की अच्छी समझ।

4. Blogging के लिए कौन सा प्लेटफॉर्म सबसे अच्छा है?

  • वर्डप्रेस सबसे पॉपुलर और यूजर-फ्रेंडली प्लेटफॉर्म है Blogging के लिए।

राजेंद्र राठौर की कहानी ने हमें दिखाया कि कैसे एक छोटा सा गांव और सीमित संसाधनों के बावजूद, सही दिशा में मेहनत करके बड़ी सफलता पाई जा सकती है। अगर आप भी उनके जैसे सफल ब्लॉगर बनना चाहते हैं, तो आज ही शुरुआत करें। शुभकामनाएं!

Leave a comment